शुक्रवार, 19 फ़रवरी 2010

जीवन के पल

               जीवन के पल

हर गुजरा पल
                          एक याद छोड़ जाता है ,
       उस याद के भरोसे
                           एक आस छोड़ जाता है ,
        आस के बहकावे में
                         एक सांस छोड़ जाता है ,
         सांस की परछाई में
                          एक घुटन छोड़ जाता है ,
         घुटन में जकड़ कर
                          एक जीवन छोड़ जाता है ,
                 जीवन को जीने के लिये
                             एक इंसान छोड़ जाता है !!




सु..मन 

4 टिप्‍पणियां:

  1. हर गुजरा पल एक याद छोड़ जाता है..
    उस याद के भरोसे एक आस छोड़ जाता है...
    काफ़ी गहरे भाव...असर छोडते हुए...
    जज़्बात पर आने के लिये शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं