शनिवार, 27 फ़रवरी 2010

होली के रंग में

होली के रंग में



मस्ती की आई है बयार
आया है रंगों का त्यौहार ,

भूला कर सब बैर और भरम
आओ झूम के मना लें ये जशन ,

पोत लें खुद पे प्रीत की स्याही
छोड़ जात का बन्धन बनें हमराही ,

सब तरफ फैला दें अमन का गुलाल
जीवन बने बसंत आए खुशियों की बहार ,



रंग जायें इस कदर होली के रंग में
ज्यूं राधा रंगी थी श्याम संग मधुवन में !!




सु..मन