शनिवार, 9 अगस्त 2014

भैया सुनो !

Bhaiyu आपके लिए 










भैया सुनो !
नहीं जानती
कि क्यूँ कर
शुरू हुआ होगा
ये रक्षा बन्धन
कब,किस वजह से
बाँधी होगी किसी बहन ने
अपने भाई की कलाई पर
पहली राखी |

जानती हूँ
तो बस इतना
कि कच्चे धागे की डोरी को
बुना है मैंने
विश्वास के ताने बाने से
लगाए हैं इसमें  
अपने एहसास के रंग
और बांध दी है
तुम्हारी लम्बी उम्र की
गुढी गाँठ |

बदले इसके
नहीं मांगती कुछ
सिवाए इसके
कि ता-उम्र सम्भाले रखना
ये पवित्र बन्धन
मेरी ‘राखी’ को ना होने देना तुम राख !!


तुम्हारी बहन
सु-मन
(मेरी इस रचना को राजस्थान की Daily News अखबार के 'खुशबू' अंक में प्रकाशित करने के लिए वर्षा मिर्ज़ा जी का बहुत बहुत आभार)

14 टिप्‍पणियां:

  1. जानती हूँ
    तो बस इतना
    कि कच्चे धागे की डोरी को
    बुना है मैंने
    विश्वास के ताने बाने से
    लगाए हैं इसमें
    अपने एहसास के रंग
    और बांध दी है
    तुम्हारी लम्बी उम्र की
    गुढी गाँठ |
    राखी के पावन पर्व पर सुन्दर शब्द लिखे हैं आपने ! बहुत बहुत शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  2. कल 10/अगस्त/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  3. कच्चे धागों में बंधा है प्यार
    देखों आया राखी का त्यौहार
    बहुत सुन्दर सामयिक रचना

    रक्षा पर्व की शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति, रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  5. विश्वास, आपसी प्रेम और अधिकार का ये ताना बाना यूँ ही बना रहे ....
    रक्षाबंधन की बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. ब्लॉग बुलेटिन की रविवार १० अगस्त २०१४ की बुलेटिन -- रक्षाबंधन विशेष – ब्लॉग बुलेटिन -- में आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ...
    एक निवेदन--- यदि आप फेसबुक पर हैं तो कृपया ब्लॉग बुलेटिन ग्रुप से जुड़कर अपनी पोस्ट की जानकारी सबके साथ साझा करें.
    सादर आभार!

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपका ब्लॉग देखकर अच्छा लगा. अंतरजाल पर हिंदी समृधि के लिए किया जा रहा आपका प्रयास सराहनीय है. कृपया अपने ब्लॉग को “ब्लॉगप्रहरी:एग्रीगेटर व हिंदी सोशल नेटवर्क” से जोड़ कर अधिक से अधिक पाठकों तक पहुचाएं. ब्लॉगप्रहरी भारत का सबसे आधुनिक और सम्पूर्ण ब्लॉग मंच है. ब्लॉगप्रहरी ब्लॉग डायरेक्टरी, माइक्रो ब्लॉग, सोशल नेटवर्क, ब्लॉग रैंकिंग, एग्रीगेटर और ब्लॉग से आमदनी की सुविधाओं के साथ एक सम्पूर्ण मंच प्रदान करता है.
    अपने ब्लॉग को ब्लॉगप्रहरी से जोड़ने के लिए, यहाँ क्लिक करें http://www.blogprahari.com/add-your-blog अथवा पंजीयन करें http://www.blogprahari.com/signup .
    अतार्जाल पर हिंदी को समृद्ध और सशक्त बनाने की हमारी प्रतिबद्धता आपके सहयोग के बिना पूरी नहीं हो सकती.
    मोडरेटर
    ब्लॉगप्रहरी नेटवर्क

    उत्तर देंहटाएं
  8. सुंदर राखी की शुभ कामना और उम्मीद।

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुंदर रचना ! मंगलकामनाएं आपको !

    उत्तर देंहटाएं