@सर्वाधिकार सुरक्षित

सर्वाधिकार सुरक्षित @इस ब्लॉग पर प्रकाशित हर रचना के अधिकार लेखक के पास सुरक्षित हैं |

शुक्रवार, 15 फ़रवरी 2019

उड़ी या पुलवामा















         १.
आतंकी वार 
उड़ी या पुलवामा 
कितनी बार ।

      २.
शहीद लाल 
दामन में लपेटे 
रोया तिरंगा ।

     ३.
टूटी चूड़ियाँ 
माँग बिन सिन्दूर 
वीर की बेवा |


14 फरवरी 2019 पुलवामा आंतकी हमला | शहीद जवानों को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजली ||


सु-मन 

6 टिप्‍पणियां:

  1. सुमन जी, हिंदुस्तान बापू का बंटवारा, चाचा के कबूतर और दादी की नाक का बोझ उठा रहा है और कुछ नहीं।

    जवाब देंहटाएं
  2. भारत देश के वीर सैनिकों को शत शत नमन हाइकु के माध्यम से उनको श्रद्धांजलि देने का प्रयास अति उत्तम है...वीर शहीदों को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि,

    जवाब देंहटाएं
  3. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (16-02-2019) को "चूहों की ललकार." (चर्चा अंक-3249) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    शहीदों के नमन के साथ...।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  4. Bahut hi badhiya 2 liners
    https://chiragkikalam.in/nervous-nineties/sachin-tendulkar-centuries/

    जवाब देंहटाएं