सोमवार, 4 फ़रवरी 2013

अनदेखी मंजिल
















बढ़ते क़दमों को
रोकने के प्रयास में
गिरती उठती वो
कब तक संभाल पायेगी
हाथों से गिरते
पलों को
आस में बंधे
खाबों को
कैसे सहेज पाएगी
आँखों से गिरती
उम्मीदों को
धूल में उड़ती
यादों को
ये रास्ता अनदेखी मंजिल का
उसे न जाने
कहाँ ले जायेगा  
क़दमों के निशां रह जायेगें
कारवां बढ़ता जायेगा !!


सु-मन

30 टिप्‍पणियां:

  1. वाह!
    आपकी यह प्रविष्टि आज दिनांक 04-02-2013 को चर्चामंच-1145 पर लिंक की जा रही है। सादर सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह!
    आपकी यह प्रविष्टि आज दिनांक 04-02-2013 को चर्चामंच-1145 पर लिंक की जा रही है। सादर सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत उम्दा...अभी फेस बुक पर पढ़ा.... :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपकी यह बेहतरीन रचना शनिवार 06/02/2013 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जाएगी. कृपया अवलोकन करे एवं आपके सुझावों को अंकित करें, लिंक में आपका स्वागत है . धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  5. जीवन में क्या होगा आगे,
    सोचा सबने, क्या जाना है।

    उत्तर देंहटाएं
  6. ..बहुत सुन्दर रचना..उतनी ही सुन्दर प्रस्तुति!

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुंदर रचना हेतु दिली बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  8. रास्ते अक्सर बनाने पड़ते हैं... मंज़िल तक पहुँचने के लिए...~खूबसूरत रचना!
    ~सादर!!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सही कहा अपने ...
    बेहतरीन अभिव्‍यक्ति ।

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत खूब ...

    कौन करेगा नमक का हक़ अदा - ब्लॉग बुलेटिन आज की ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  11. because the show must go on ever...wo kahate hai na "naam gum jaayega chahra yh badal jyega meri awaz hi pachchaan hai gar yaad rahe"....:)

    उत्तर देंहटाएं
  12. "हाथों से गिरते
    पलों को
    आस में बंधे
    खाबों को
    कैसे सहेज पाएगी"

    बहुत खूब सच्चाई को बयां करती रचना..

    उत्तर देंहटाएं
  13. सच है भविष्य की कौन जाने..... सुंदर पंक्तियाँ

    उत्तर देंहटाएं
  14. सच है भविष्य की कौन जाने..... सुंदर पंक्तियाँ

    उत्तर देंहटाएं
  15. ना जाने अब तक कहाँ छुपाके राखी थी यह रचना ?

    उत्तर देंहटाएं
  16. bahut sundar Rachna ...badhai
    http://ehsaasmere.blogspot.in/2013/01/blog-post_31.html

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुतिकरण सुन्दर शब्द चयन,आभार है आपका

    आज की मेरी नई रचना जो आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार कर रही है


    ये कैसी मोहब्बत है

    उत्तर देंहटाएं